दिल ग़म से घबराए तो कहना!

बदल जाओगे तुम ग़म सुन के मेरे,
कभी दिल ग़म से घबराए तो कहना|

जावेद अख़्तर

Leave a Reply