बारिश ने उसे तोड़ गिराया होगा!

‘कैफ़’ परदेस में मत याद करो अपना मकाँ,
अब के बारिश ने उसे तोड़ गिराया होगा|

कैफ़ भोपाली

Leave a Reply