कुछ नहीं करते हैं ग़ज़ब करते हैं!

काम सब ग़ैर-ज़रूरी हैं जो सब करते हैं,
और हम कुछ नहीं करते हैं ग़ज़ब करते हैं|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply