सच कहो तो बुरा मानते हैं लोग!

हिम्मत से सच कहो तो बुरा मानते हैं लोग,
रो—रो के बात कहने की आदत नहीं रही|

दुष्यंत कुमा

Leave a Reply