समुंदर तिरी आँखें!

भड़काएँ मिरी प्यास को अक्सर तिरी आँखें,
सहरा मिरा चेहरा है समुंदर तिरी आँखें|

मोहसिन नक़वी

Leave a Reply