ख़ुद अपनी दवा होते हैं!

हैं ज़माने में अजब चीज़ मोहब्बत वाले,
दर्द ख़ुद बनते हैं ख़ुद अपनी दवा होते हैं|

मजरूह सुल्तानपुरी

Leave a Reply