कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ!

कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ,
उनसे कितना कुछ कहने की कोशिश की|

गुलज़ार

2 Comments

    1. shri.krishna.sharma says:

      Thanks a lot ji

Leave a Reply