जगा दिया तेरी पाज़ेब ने!

सुला चुकी थी ये दुनिया थपक थपक के मुझे,
जगा दिया तेरी पाज़ेब ने खनक के मुझे|

राहत इन्दौरी