बदी के सामने नेकी अभी तक!

बदी के सामने नेकी अभी तक,
सिपर-अंदाज़ होती जा रही है|

आनंद नारायण ‘मुल्ला’

मेरा घर जलाने वाले थे!

मैं जिनको जान के, पहचान भी नहीं सकता,
कुछ ऐसे लोग मेरा घर जलाने वाले थे|

वसीम बरेलवी