कॉलर का रंग हूँ!

हर लम्हा ज़िन्दगी के पसीने से तंग हूँ,
मैं भी किसी क़मीज़ के कॉलर का रंग हूँ|

सूर्यभानु गुप्त