आपको रुसवा किया न जाए!

अच्छा है उनसे कोई तक़ाज़ा किया न जाए,
अपनी नज़र में आपको रुसवा किया न जाए|

जाँ निसार अख़्तर