दिल का खिलौना हाय टूट गया!

पंडित भारत व्यास जी के लिखे एक खूबसूरत गीत के बोल आज शेयर कर रहा हूँ| इस गीत को 1959 में रिलीज हुई फिल्म ‘गूंज उठी शहनाई’ के लिए वसंत देसाई जी के संगीत निर्देशन में लता मंगेशकर जी ने बहुत सुंदर ढंग से गाया था| इतना लंबा समय बीत जाने के बाद, आज भी यह गीत हम लोगों के दिल में बसा है|

लीजिए प्रस्तुत हैं फिल्म- ‘गूंज उठी शहनाई’ के इस मधुर गीत के बोल :

दिल का खिलौना हाय टूट गया
कोई लुटेरा आ के लूट गया
हाय कोई लुटेरा आ के लूट गया
दिल का खिलौना हाय टूट गया|

हुआ क्या क़ुसूर ऐसा सैंया हमारा
जाते हुये जो तूने हमें ना पुकारा|
उल्फ़त का तार तोड़ा
हमें मझधार छोड़ा
हम तो चले थे ले के, तेरा ही सहारा
साथी हमारा हमसे छूट गया|

दिल का खिलौना हाय टूट गया
कोई लुटेरा आ के लूट गया|


कैसी परदेसी तूने प्रीत लगाई
चैन भी खोया हमने नींद गँवाई,
तेरा ऐतबार करके
हाय इंतज़ार करके
ख़ुशियों के बदले ग़म की दुनिया बसाई,
ज़ालिम ज़माना हमसे रूठ गया|

दिल का खिलौना हाय टूट गया
कोई लुटेरा आ के लूट गया|


आज के लिए इतना ही,
नमस्कार
******