जंगल तो पराया होगा!

बिजली के तार पे बैठा हुआ हँसता पंछी,
सोचता है कि वो जंगल तो पराया होगा|

कैफ़ी आज़मी