मुँह छुपाना याद है!

खेंच लेना वो मेरा परदे का कोना दफ़अतन,
और दुपट्टे से तेरा वो मुँह छुपाना याद है|

हसरत मोहानी