हिंदोस्ताँ कहां है अब!

ये रोज कोई पूछता है मेरे कान में
हिंदोस्ताँ कहां है अब हिंदोस्तान में।

उदय प्रताप सिंह