जो मुस्कुरा के हमेशा गले लगाये मुझे!

वही तो सबसे ज़ियादा है नुक्ता-चीं मेरा,
जो मुस्कुरा के हमेशा गले लगाये मुझे।

क़तील शिफ़ाई