कोई ख़्वाब हसीं ढूँढना था!

नींद को ढूँड के लाने की दवाएँ थीं बहुत,
काम मुश्किल तो कोई ख़्वाब हसीं ढूँढना था|

राजेश रेड्डी

मुझे ये ज़ोफ़ है बीमार नहीं हूँ!

अफ़्सुर्दा हूँ इबरत से दवा की नहीं हाजत,
ग़म का मुझे ये ज़ोफ़ है बीमार नहीं हूँ|

अकबर इलाहाबादी