इबादत में खलल पड़ता है!

उसकी याद आई हैं साँसों ज़रा धीरे चलो,
धड़कनों से भी इबादत में खलल पड़ता है|

राहत इन्दौरी