जवाब भी, सवाल में मिला मुझे!

ख़याल जिसका था मुझे, ख़याल में मिला मुझे,
सवाल का जवाब भी, सवाल में मिला मुझे|

मुनीर नियाज़ी

उठते सवालों को क्या करूँ!

मैं जानता हूँ सोचना अब एक जुर्म है,
लेकिन मैं दिल में उठते सवालों को क्या करूँ|

राजेश रेड्डी

सुलगते हैं सवालों की तरह!

मुझसे नजरे तो मिलाओ कि हजारों चेहरे,
मेरी आंखों में सुलगते हैं सवालों की तरह|

जां निसार अख़्तर