थोड़ी धूप आनी चाहिए!

मैंने ऐ सूरज तुझे पूजा नहीं समझा तो है,
मेरे हिस्से में भी थोड़ी धूप आनी चाहिए|

राहत इंदौरी

पर्दे खींच दिए रात हो गई!

सूरज को चोंच में लिए मुर्ग़ा खड़ा रहा,
खिड़की के पर्दे खींच दिए रात हो गई|

निदा फ़ाज़ली

मेरे हिस्से की धूप आने दे!

अपने साए को इतना समझाने दे,
मुझ तक मेरे हिस्से की धूप आने दे|

वसीम बरेलवी

मेरे हिस्से का सूरज भी खा गए!

ऊँची इमारतों से मकां मेरा घिर गया,
कुछ लोग मेरे हिस्से का सूरज भी खा गए|

जावेद अख़्तर