बस्तियाँ यहाँ थीं बताओ किधर गईं!

दीवाना पूछता है ये लहरों से बार बार,
कुछ बस्तियाँ यहाँ थीं बताओ किधर गईं|

कैफ़ी आज़मी