देर तक चेहरा नहीं रहता!

परखना मत परखने में कोई अपना नहीं रहता,
किसी भी आइने में देर तक चेहरा नहीं रहता|

बशीर बद्र