सारी बातों की सफ़ाई दी है!

सिर्फ़ इक सफ़्हा पलट कर उसने,
सारी बातों की सफ़ाई दी है|

गुलज़ार