तुम्हें क़ीमत लगानी चाहिए!

मेरी क़ीमत कौन दे सकता है इस बाज़ार में,
तुम ज़ुलेख़ा हो तुम्हें क़ीमत लगानी चाहिए|

राहत इंदौरी