चाँदनी दिल दुखाती रही रात भर!

आप की याद आती रही रात भर,
चाँदनी दिल दुखाती रही रात भर|

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़