देखा गया दीवाना तेरे शहर में!

आज फिर टूटेंगी तेरे घर की नाज़ुक खिड़कियाँ,
आज फिर देखा गया दीवाना तेरे शहर में|

कैफ़ी आज़मी